Adi's Journal

Pieces of my thourhgs

लगन

है अगर दिलमे कोई लगन अपने,
उठ खड़ा हो, कर पुरे सारे सपने.
हो हिम्मत अगर जिगरमे तेरी,
भर तू ताकत अपने पंखोमे पूरी.
नहीं चलना है तुम्हे इस जमींपे
लेहेराना है परचम अपना गगनपे…

Related Posts

पार
शुभ्र भीती

Leave a Reply

%d bloggers like this: